June 4, 2020

सांसद मनीष तिवारी ने एमपी कोटे से हल्के को 85 लाख दिए

0Shares

कोरोना छूत की बीमारी है, इसलिए परहेज ही इलाज है: मनीष तिवारी

28 मार्च: श्री आनंदपुर साहिब से सांसद मनीष तिवारी ने हलका निवासियों की सेहत को मुख्य रखते हुए, उनकी सुविधाओं हेतु जिला रूपनगर, मोहाली व नवांशहर के प्रशासन को अपने एमपी कोटे से 25-25 लाख रुपए और एसडीएम गढ़शंकर को 10 लाख रुपए देने का ऐलान किया है, जिसके लिए प्रशासनिक अधिकारियों के पास आज ही पत्र पहुंच गए हैं।

सांसद तिवारी ने जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना वायरस अभी लाइलाज है, जिसके लिए परहेज रखना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन करना सरकार द्वारा देशवासियों को किसी किस्म की कोई सजा नहीं और ना ही हमें नाजायज घरों में बंद किया हुआ है, बल्कि देशवासियों की सेहत के बचाव हेतु यही एक आखिरी इलाज है। क्योंकि कोरोना वायरस एक छूत की बीमारी है, जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को छूने से फैल सकती है। तिवारी ने कहा कि इस बीमारी का अभी तक कोई हल नहीं है, तब तक हमारे जीवन को परहेज से ही इस खतरनाक बीमारी से बचाया जा सकता है। एक-दूसरे के टच से बचाकर सरकार के लिए यह चैन तोड़नी जरूरी हो गई थी, जिस कारण सरकार को देशवासियों को बचाने के लिए लॉक डाउन करना पड़ा।

इसके अलावा तिवारी ने इन हालातों के मद्देनजर कर्फ्यू पास की मांग करने वाले साथियों से अपील की जाएगी, यदि बहुत ही जरूरी है, तो कर्फ्यू पास की मांग की जा सकती है, जो साथी सिर्फ कर्फ्यू के दौरान घूमने फिरने के लिए ही पास की मांग कर रहे हैं, उनको ऐसी मांग नहीं करनी चाहिए। क्योंकि नजायज पास बनवाकर लॉक डाउन का उल्लंघन करना देशवासियों व पड़ोसियों की सेहत से खिलवाड़ करने के बराबर है, जो हमें नहीं करना चाहिए। तिवारी ने यह भी अपील की है कि हमारे मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह बहुत ही सुलझे हुए व्यक्ति हैं और पंजाब सरकार द्वारा जो भी हिदायतें दी जाती हैं, उन पर पूरी तरह ध्यान दिया जाए, ताकि हमारे किसी भी साथी का किसी किस्म का नुकसान ना हो।

0Shares