September 28, 2020

आंकड़ों में उलझे, कांग्रेस सांसद राहुल गांधी

0Shares

नेशनल डेस्कः कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार को आंकड़ों के जाल में उलझते नजर आए। उन्होंने लोकसभा में बैंक संकट का मामला उठाया और सरकार को घेरते हुए 50 डिफॉल्टर के नामों की जानकारी मांगी। एक ओर जहां उन्होंने लोकसभा में 50 डिफॉल्टर की जानकारी मांगी तो वहीं संसद के बाहर पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने 500 डिफॉल्टर का नाम पूछा।

पत्रकारों से बात करते हुए कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा कि मैंने पूछा था कि सबसे बड़े 500 डिफॉल्टर्स कौन हैं। स्पीकर की ड्यूटी है कि मेरे अधिकारों की रक्षा करें, लेकिन उन्होंने मुझे दूसरा सवाल पूछने नहीं दिया। यह मेरे अधिकारों का हनन है। यह गलत है।

राहुल गांधी ने आगे कहा कि सरकार इन 500 लोगों का नाम लेने में क्यों डरी हुई है। हमें पता है कि देश की अर्थव्यवस्था आगे नहीं बढ़ रही है। 500 लोगों ने देश की संपत्ति की चोरी की है। पीएम मोदी ने कहा था कि वे इन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे। वे इनका नाम क्यों नहीं दे रहे हैं। मैं बार-बार कह रहा हूं कि बैंकों की हालत और कोरोना वायरस की वजह से परिणाम बेहद खराब आएंगे।

प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने सवाल किया कि मैंने सरकार से बड़ा ही आसान सवाल किया कि देश के 50 डिफॉल्टर कौन हैं। मुझे कोई जवाब नहीं दिया गया। पीएम मोदी कहते हैं कि जिन लोगों ने हिंदुस्तान के बैंकों से चोरी की है उनको मैं पकड़कर वापस लाऊंगा। तो मैंने सरकार से उनके नाम पूछे। मुझे जवाब नहीं मिला।

राहुल गांधी के सवाल का जवाब देते हुए वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि इसमें छुपाने की कोई बात नहीं है। इसकी जानकारी दी गई है। केंद्रीय सूचना आयोग (सीआईसी) की वेबसाइट पर सारे विलफुल डिफॉल्टर का नाम दिया जाता है।

0Shares